Monday, May 27, 2024
Home शिक्षा लैलूंगा में 24 घंटे के भीतर ब्लाइंड मर्डर की गुत्थी सुलझी…मर्डर ट्रेसिंग में महारथ …इंस्पेक्टर राजेश जांगड़े का एक और कमाल.. गांव का ही युवक निकला कातिल…मामूली विवाद हाथ मुक्के से की थी बेतहाशा पिटाई….

लैलूंगा में 24 घंटे के भीतर ब्लाइंड मर्डर की गुत्थी सुलझी…मर्डर ट्रेसिंग में महारथ …इंस्पेक्टर राजेश जांगड़े का एक और कमाल.. गांव का ही युवक निकला कातिल…मामूली विवाद हाथ मुक्के से की थी बेतहाशा पिटाई….

by Surendra Chauhan
         रायगढ़/ क्राइम फ़ाइल... लैलूंगा के समीपस्थ कमरगा गांव में हुई हत्या की वारदात से पर्दा हट गया है। 24 घँटे के भीतर पुलिस के चक्रव्यूह में न सिर्फ कत्ल का राजफाश हुआ बल्कि आरोपी को भी गिरफ्तार कर लिया गया है। दरअसल मंगलवार की सुबह लैलूंगा के समीपस्थ गांव कमरगा में 48 वर्षीय एक अधेड़ ग्रामीण की लाश रक्त रंजित हालत में मिलने की सूचना पुलिस को मिली। लाश मिलने की सूचना मिलते ही मौके पर पहुंची पुलिस की टीम ने मर्ग कायम कर जांच शुरू कर दी। प्रथम दृष्टया मामला हत्या का प्रतीत हो रहा था। लिहाजा इंस्पेक्टर राजेश जांगड़े की टीम ने कातिल के गिरेबान तक पहुचने सूचना तंत्र को अलर्ट किया ही साथ ही सादी वर्दी में जवानों को भी तैनात कर दिया। इस बीच जानकारी सामने आई की कमरगा गांव के ही एक युवक लछिन्दर उम्र 21 वर्ष को वारदात की रात मृतक अमर साय के साथ देखा गया है। पुलिस को मिला यह इनपुट काफी अहम था। इसलिए मामले की गंभीरता को देखते हुए पुलिस एक्शन मोड पर आ गई। आरोपी लछिन्दर को हिरासत में लेकर पूछताछ शुरू की गई। शुरुआत में तो वह ना नुकुर करता रहा। लेकिन बाद में पुलिस ने अपने हथकंडे अपनाए तो आरोपी टूट गया और उसने इक़बाले जुर्म स्वीकार करते हुए हत्या की जो वजह बताई वह काफी चौकानें वाला था। 
मामूली विवाद में कत्ल
अमर साय चौहान पिता सगुन चौहान (उम्र 48 वर्ष)* का शव कीचड़ में लथपथ पड़ा मिला । शव के सिर, आंख के ऊपर और कई जगह चोट के निशान थे, प्रथम दृष्टिया मामला हत्यात्मक प्रतीत होने पर थाना प्रभारी द्वारा मृतक के वारिसानों एवं रातूराम चौहान के परिवारजनों को तलब कर पूछताछ किया गया । आरोपी  लच्छीन्दर चौहान पिता रातूराम चौहान उम्र 21 साल निवासी कमरगा* ने बताया कि 18 मार्च दिन सोमवार के शाम अमर साय चौहान, छोटू सारथी के साथ तीनों गांव में खाना पीना किये । उसके बाद छोटू सारथी अमर साय को इसके घर छोड़कर चला गया । अमर साय नशे में लच्छीन्दर के साथ गाली गलौज करने लगा जिसमें दोनों के बीच विवाद हुआ और लच्छीन्दर द्वारा अमर साय को हाथ मुक्के से मारपीट कर कंक्रीट के फर्श (बरामदा) में पटकने लगा जिससे जमीन में पड़े छोटे कंक्रीट से अमर साय के सिर, आंख के ऊपर गहरा चोट आया और अमर साय चौहान की मौत हो गई । 

       मर्डर ट्रेसिंग में महारथ जांगड़े
ब्लाइंड मर्डर की वारदात हो और इंसेक्टर राजेश जांगड़े जांच में तो फिर आरोपी बच नही सकता। फिलहाल लगातार जिस तरह लैलूंगा में अंधे कत्ल की वारदात सामने आ रही है  और चंद घँटे में आरोपी गिरफ्त में आ रहा है उसने मर्डर ट्रेसिंग में माहिर इंस्पेक्टर राजेश जांगड़े की दक्षता को ही उजागर किया है।।

You may also like