Monday, May 27, 2024
Home शिक्षा निर्मोही माँ की करतूत..अपने चार महीने की दूधमुंही मासूम को जमीन पर पटकर उतारा मौत के घाट…हत्या के आरोप से बचने लिखाई झूठी रिपोर्ट…मर्डर ट्रेसिंग इंस्पेक्टर राजेश जांगड़े की तेज निगाहों और सूक्ष्म तहकीकात से बच न सकी आरोपिया…मासूम की हत्या के आरोप में माँ और बड़ी मम्मी गिरफ्तार…..पढ़िए सनसनीखेज रिपोर्ट

निर्मोही माँ की करतूत..अपने चार महीने की दूधमुंही मासूम को जमीन पर पटकर उतारा मौत के घाट…हत्या के आरोप से बचने लिखाई झूठी रिपोर्ट…मर्डर ट्रेसिंग इंस्पेक्टर राजेश जांगड़े की तेज निगाहों और सूक्ष्म तहकीकात से बच न सकी आरोपिया…मासूम की हत्या के आरोप में माँ और बड़ी मम्मी गिरफ्तार…..पढ़िए सनसनीखेज रिपोर्ट

by Surendra Chauhan
रायगढ़। बड़ी बहन से मोबाइल लेन देन के मामूली विवाद में तैश में आकर माँ द्वारा अपने कलेजे के टुकड़े को जमीन पर पटकर मौत के घाट उतारने का सनसनीखेज मामला सामने आया है।कत्ल की वारदात में सबसे दिलचस्प पहलू यह है कि हत्या के साक्ष्य को छिपाने मनगढ़ंत स्टोरी तैयार कर हादसा में तब्दील करने रिपोर्ट दर्ज कराया गया। हालांकि मर्डर ट्रेसिंग स्पेशलिस्ट थाना प्रभारी राजेश जांगड़े की पैनी निगाह और बारीकी से की सूक्ष्म जांच ने पूरे कलयुगी माँ की करतूतों को उजागर कर दिया। पूरा मामला आदिवासी बाहुल्य लैलूंगा थाना क्षेत्र का है।पुलिस ने अपने ही चार महीने की मासूम हत्या करने वाली मां और उसकी सगी बड़ी बहन को धारा 302 के तहत गिरफ्तार कर जेल भेज दिया है।
मामला लैलूंगा से सटे सरईमुड़ा गांव का है। गांव की रहने वाली पूजा पैंकरा और उसकी बड़ी बहन  संतोषी पैंकरा के बीच मोबाइल लेन देन को लेकर विवाद हो रहा था। संतोषी छोटी बहन से उसकी मोबाइल को मांग रही थी। यह वही वक्त था जब पूजा अपनी चार महीने की अबोध शिशु को गोद मे ली हुई थी। बड़ी बहन द्वारा मोबाइल मांगने से ग़ुस्से में आ गई। मोबाइल  देने की जगह उसे अपनी गोद में ली मासूम को जमीन पर पटकना ज्यादा बेहतर लगा। 

पुलिस की जांच पर एक नजर
 साक्ष्य को छिपाने घरवालों ने शिशु के उसकी मां के हाथ से गिर जाने से सिर में आई चोट की झूठी और मनगढ़ंत रिपोर्ट दर्ज कराया गया था । पीएम रिपोर्ट में शिशु के सिर पर आई चोट किसी भारी ठोस वस्तु से प्रहार करने या टकराने की वजह से हिंसात्मक व्यवहार लेख किया गया है । मामले की गंभीरता को देखते हुए पुलिस अधीक्षक 
दिव्यांग कुमार पटेल के दिशा निर्देशन, एडिशनल एसपी आकाश मरकाम एवं एसडीओपी धरमजयगढ़  सिद्धांत तिवारी के मार्गदर्शन पर थाना प्रभारी लैलूंगा निरीक्षक राजेश जांगड़े द्वारा सूक्ष्मता से जांच किया गया । जांच दौरान पीएमकर्ता महिला चिकित्सक की पृथक से राय ली गई । पीएमकर्ता ने चोट को साधारण गिरने से आई चोट का होना नहीं बताई । थाना प्रभारी द्वारा मृतक की मां और घरवालों से कड़ाई से पूछताछ किया गया जिसमें घटना का खुलासा हुआ।

      घटना को लेकर शिशु की दादी श्रीमती समारी पैकरा पति कमल सिंह पर उम्र 50 साल निवासी सराईमुडा थाना लैलूंगा द्वारा 16 जनवरी को थाना लैलूंगा में शिशु की मौत के संबंध में मर्ग इंटीमेशन दर्ज कराई कि शिशु की मां पूजा पैंकरा सुबह रोड के ढलान पर बच्चे को धूप दिखा रही थी । उसी समय पूजा को अचानक चक्कर आने से दोनों मां बेटा ढलान पर से गिर गये जिससे शिशु आयुष (04 माह) को चोट आयी, जिसे एंबुलेंस से शासकीय अस्पताल लैलूंगा में भर्ती किए जहां इलाज दौरान शिशु की मृत्यु हो गई है जिस पर मर्ग कायम कर जांच में लिया गया । मर्ग जांच में पीएम रिपोर्ट प्राप्त कर मामला संदिग्ध पाए जाने से थाना प्रभारी राजेश जांगडे द्वारा मृतक के वारिसानों से कड़ाई से पूछताछ किया गया जिसमें यह बात सामने निकलकर आई कि 16 जनवरी के सुबह मृतक की मां पूजा पैंकरा से उसकी बड़ी बहन संतोषी पैंकरा मोबाइल मांग रही थी, मोबाइल नहीं देने पर दोनों में झगड़ा विवाद हुआ । इसी झगड़ा विवाद के बीच गुस्से में आकर पूजा पैंकरा अपने चार महीने के शिशु आयुष को जमीन में पटक दी जिससे सिर में आई गंभीर चोट से शिशु की मृत्यु हो गया । लैलूंगा पुलिस द्वारा मामले में महत्वपूर्ण साक्ष्यों की जप्ती कर आरोपिया पूजा पैकरा पति अरविंद पैकरा (उम्र 21 साल) तथा आरोपिया संतोषी पैकरा पिता कमल सिंह पर (उम्र 32 साल) निवासी सराईमुडा थाना लैलूंगा जिला रायगढ़ को हत्या के अपराध में गिरफ्तार कर न्यायिक रिमांड पर भेजा गया है । 

  पुलिस अधीक्षक  दिव्यांग कुमार पटेल के दिशा निर्देशन एवं एडिशनल एसपी आकाश मरकाम, एसडीओपी धरमजयगढ़ श्री सिद्धांत तिवारी के मार्गदर्शन पर हत्या के इस गंभीर का पटाक्षेप में थाना प्रभारी लैलूंगा निरीक्षक राजेश जांगड़े, सहायक उप निरीक्षक सुरेंद्र कुमार वर्मा एवं हमराह स्टाफ की महत्वपूर्ण भूमिका रही है ।

You may also like