Saturday, June 22, 2024
Home राजधानी सहायक खनिज अधिकारी को सात साल का कारावास और 20 हजार रूपए का अर्थदण्ड।एसीबी की स्पेशल कोर्ट ने सुनाया फैसला।आय से अधिक संपति अर्जित करने का मामला। सरकारी नौकरी के दौरान 6 साल में कमाए थे डेढ़ करोड़ रूपए।

सहायक खनिज अधिकारी को सात साल का कारावास और 20 हजार रूपए का अर्थदण्ड।एसीबी की स्पेशल कोर्ट ने सुनाया फैसला।आय से अधिक संपति अर्जित करने का मामला। सरकारी नौकरी के दौरान 6 साल में कमाए थे डेढ़ करोड़ रूपए।

by Surendra Chauhan


रायपुर डेस्क। जिले में सरकारी नौकरी के दौरान आय से अधिक संपत्ति अर्जित करने के मामले में एसीबी की स्पेशल कोर्ट ने फैसला सुनाया जिसमें सहायक खनिज अधिकारी को 7 साल कारावास व ₹20000 के अर्थदंड से दंडित किया गया है यह फैसला विशेष न्यायाधीश आदित्य जोशी की अदालत में सुनाया गया अभियोजन पक्ष की ओर से विशेष लोक अभियोजक जाहिदा परवीन ने मामले की पैरवी की थी। मामला 2010 का है आय से अधिक संपत्ति अर्जित करने की गुप्त सूचना के आधार पर एंटी करप्शन ब्यूरो की टीम ने दुर्ग के विजय नगर निवासी सहायक खनिज अधिकारी गणेश कुमार कुम्हारे के निवास पर 11 अक्टूबर 2010 को दबिश दी थी डीएसपी लोचन पांडे के नेतृत्व में यह दबिश दी गई थी । इस बीच में गणेश कुमार द्वारा 1 जनवरी 2004 से 12 अक्टूबर 2010 तक 6 साल की शासकीय नौकरी के दौरान 2करोड़20 लाख 51हज़ार 378 रुपए की आय से अधिक संपत्ति का खुलासा हुआ था टीम ने आरोपी गणेश कुमार कुम्हारे के खिलाफ भ्रष्टाचार निवारण अधिनियम के तहत कार्रवाई कर प्रकरण को विचारण के लिए अदालत में पेश किया था प्रकरण में विचारण के बाद स्पेशल कोर्ट ने अभियुक्त सहायक खनिज अधिकारी गणेश के खिलाफ एक करोड़ 48लाख 10 हज़ार 308 रुपए की आय से अधिक संपत्ति अर्जित करने का दोषी पाया जिसके बाद विशेष न्यायाधीश ने अभियुक्त को भ्रष्टाचार निवारण अधिनियम की धारा 13 (1) ई तथा 13 (2 ) के तहत दोषी करार देते हुए 7 वर्ष कारावास और ₹20000 के अर्थदंड से दंडित किए जाने का फैसला सुनाया।

You may also like